विदेशी मुद्रा व्यापार पर कैसे

2023 को आयोजित इन्वेस्टर्स कॉल का ट्रांसक्रिप्ट

2023 को आयोजित इन्वेस्टर्स कॉल का ट्रांसक्रिप्ट
टीम गठित करने के निर्देश

2023 को आयोजित इन्वेस्टर्स कॉल का ट्रांसक्रिप्ट

complete list of all Hindu festivals and celebrations. The position of Sun and Moon determines the date and time of the Hindu festivals

complete list of all Indian festivals and holidays. This list contains all public, national, regional and religious holidays

get Panchang or Panchangam for each day with daily timing and position of Sunsign, Moonsign, Rahu Kalam, Gulikai Kalam

ग्लोबल इंवेस्टर्स समिट 2023 के लिए 13 देशों को भेजा गया न्योता, UP में निवेश को मिलेगा बढ़ावा

ग्लोबल इंवेस्टर्स समिट 2023 के लिए 13 देशों को भेजा गया न्योता

अभिषेक मिश्रा

  • लखनऊ,
  • 20 नवंबर 2022,
  • (अपडेटेड 20 नवंबर 2022, 8:54 PM IST)

यूपी के औद्योगिक विकास के लिए सरकार तैयार है. यूपी सरकार ने निवेश के लिए निमंत्रण देना शुरू कर दिए हैं. औद्योगिक विकास मंत्री नन्द गोपाल गुप्ता (नन्दी) ने ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट 2023 के लिए 13 देशों 2023 को आयोजित इन्वेस्टर्स कॉल का ट्रांसक्रिप्ट के औद्यौगिक मंत्रियों को निमंत्रण दिया है.

इस समिट के लिए UAE, जापान, जर्मनी, थाईलैंड, मैक्सिको, साउथ अफ्रीका, ब्राजील, ऑस्ट्रेलिया, फ्रांस, नीदरलैंड, बेल्जियम, कनाडा के औद्यौगिक विकास मंत्रियों को GIS के लिए न्योता भेजा गया है.

सम्बंधित ख़बरें

G20 समिट: मैंग्रोव फॉरेस्ट में ग्लोबल नेताओं से मिले पीएम मोदी
'बड़े-बड़े बाहुबली बिल में घुस गए', RLD प्रत्याशी पर बोले जितिन प्रसाद
मोरबी में योगी आदित्यनाथ की रैली, गुजरात चुनाव में दिखेगा यूपी का दम
बेटे के सिर पर पिता ने रखा हाथ, पत्नी बोली- किडनैप करना चाहता था
'जान प्यारी है या पैसे प्यारे. ' संभल में 13 लाख की लूट के बाद बदमाशों ने पूछा

सम्बंधित ख़बरें

बता दें कि यह ग्लोबल इंवेस्टर समिट उत्तर प्रदेश के औद्योगिक और आर्थिक विकास के लिए ऐतिहासिक होगा. मंत्री नन्द गोपाल गुप्ता ने यूपी की औद्योगिक विकास नीति 2022-23 की भी जानकारी दी. यूपी में इंडस्ट्री और इन्वेस्टमेंट के लिए बेहद अनुकूल परिस्थितियों का जिक्र किया.

फरवरी 2023 में होना है आयोजन

गौरतलब है कि आगामी फरवरी 2023 में यूपी ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट का आयोजन होना है, जिसमें 13 देशों के प्रतिनिधि हिस्सा लेंगे. ग्लोबल इंवेस्टर्स 2023 को आयोजित इन्वेस्टर्स कॉल का ट्रांसक्रिप्ट समिट में कई बड़ी कंपनियों के सीईओ और कई देशों के मंत्री भी हिस्सा लेंगे.

27 पॉलिसी में बदलाव की तैयारी

गौरतलब है कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अगले साल होने वाले ग्लोबल इंवेस्टर्स समिट में 10 लाख करोड़ रुपये से ज्यादा का निवेश लाने का लक्ष्य रखा था. बता दें कि यूपी में 2018 में हुए इंवेस्टर्स समिट में 4.60 लाख करोड़ रुपये के एमओयू साइन हुए थे. अब 10 2023 को आयोजित इन्वेस्टर्स कॉल का ट्रांसक्रिप्ट लाख करोड़ रुपये के नए निवेश यूपी में लाने के लिए 27 पॉलिसी में भी कई तरह के बदलाव किए जा रहे हैं.

यूपी-जीआईएस 2023 से पहले 25 सेक्टर में नयी नीतियां ला रही योगी सरकार

a

लखनऊ। अगले साल फरवरी में आयोजित यूपी ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट (यूपी-जीआईएस 2023) को लेकर योगी सरकार वॉर मोड में काम कर रही है। सरकार का पूरा ध्यान प्रदेश में 10 लाख करोड़ रुपये के निवेश के लक्ष्य को प्राप्त करने पर केंद्रित है। इसके लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर सरकार जल्द 19 सेक्टर में बिल्कुल नयी नीतियां लाने जा रही है, इसके अलावा 6 सेक्टर ऐसे हैं जिनकी पुरानी नीतियों में बड़े बदलाव की कवायद अंतिम दौर में है। कुल मिलाकर बहुप्रतीक्षित ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट में टीम यूपी 25 नयी नीतियों के साथ उतरने वाली है। सभी नीतियों को अंतिम रूप देने का काम तेजी से किया जा रहा है। खुद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इसके लिए 15 अक्टूबर की डेडलाइन तय कर दी है।

GIS-2023 : UP में लगेगा निवेशकों का मेला, रिफॉर्म, परफॉर्म और ट्रांसफॉर्म के विजन को लेकर 10 लाख करोड़ रुपये की अर्थव्यवस्था बनाने का लक्ष्य

लखनऊ. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गुरुवार को एक उच्चस्तरीय बैठक में फरवरी 2023 में प्रस्तावित ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट (GIS-2023) के आयोजन के तैयारियों की समीक्षा की. समिट आयोजन के रोडमैप के संबंध में आवश्यक दिशा-निर्देश देते हुए उन्होंने कहा कि ग्लोबल इन्वेस्टर समिट ‘नए भारत के नए उत्तर प्रदेश’ की आकांक्षाओं को उड़ान देने वाली होगी. ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट के संबंध में मुख्यमंत्री ने दिशा-निर्देश दिए. इस दौरान उन्होंने कहा कि-

“रिफॉर्म, परफॉर्म और ट्रांसफॉर्म” के मंत्र को आत्मसात करते हुए उत्तर प्रदेश देश में औद्योगिक निवेश के ‘ड्रीम डेस्टिनेशन’ के रूप में उभर कर आया है. उत्तर प्रदेश, देश की छठवीं अर्थव्यवस्था से दूसरे नंबर की अर्थव्यवस्था बनने की ओर अग्रसर है. सीएम ने कहा कि आगामी 10, 11 और 12 फरवरी 2023 को 2023 को आयोजित इन्वेस्टर्स कॉल का ट्रांसक्रिप्ट उत्तर प्रदेश ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट (GIS-2023) का आयोजन करने जा रहा है. इस बार हमें 10 लाख करोड़ रुपये के निवेश के लक्ष्य के साथ काम करना होगा. यह तीन दिवसीय ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट अभूतपूर्व होगा, ऐतिहासिक होगा और नए “उत्तर प्रदेश की आकांक्षाओं को उड़ान देने वाला होगा.

यूपी-जीआईएस 2023 से पहले 25 सेक्टर में नयी नीतियां ला रही योगी सरकार

a

लखनऊ। अगले साल फरवरी में आयोजित यूपी ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट (यूपी-जीआईएस 2023) को लेकर योगी सरकार वॉर मोड में काम कर रही है। सरकार का पूरा ध्यान प्रदेश में 10 लाख करोड़ रुपये के निवेश के लक्ष्य 2023 को आयोजित इन्वेस्टर्स कॉल का ट्रांसक्रिप्ट को प्राप्त करने पर केंद्रित है। इसके लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर सरकार जल्द 19 सेक्टर में बिल्कुल नयी नीतियां लाने जा रही है, 2023 को आयोजित इन्वेस्टर्स कॉल का ट्रांसक्रिप्ट इसके अलावा 6 सेक्टर ऐसे हैं जिनकी पुरानी नीतियों में बड़े बदलाव की कवायद अंतिम दौर में है। कुल मिलाकर बहुप्रतीक्षित ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट में टीम यूपी 25 नयी नीतियों के साथ उतरने वाली है। सभी नीतियों को अंतिम रूप देने का काम तेजी से किया जा रहा है। खुद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इसके लिए 15 अक्टूबर की डेडलाइन तय कर दी है।

रेटिंग: 4.15
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 657
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *