सफलता की कहानी

Stock Market में ट्रेडिंग कितने प्रकार की होती है?

Stock Market में ट्रेडिंग कितने प्रकार की होती है?
शेयर मार्किट में पैसा बनाना बहुत आसान है उसी प्रकार शेयर बाजार में पैसा खोना भी बहुत आसान है। इससे बचा जा सकता है अगर आप स्वंय शेयर बाजार के बारे में अधिक से अधिक जानकारी एकत्र करें,शोध करें और दूसरों के दिये टिप्स पर न जायें। शेयर बाजार एक खतरनाक खेल है, इसमें कूदने से पहले इसके बारे में अधिक Stock Market में ट्रेडिंग कितने प्रकार की होती है? से अधिक जानकारी ले लेना बहुत आवश्यक है। मगर इसका मतलब यह बिलकुल नहीं है कि शेयर मार्किट में निवेश करने के लिए कोई अलग तरह की प्रतिभा या योग्यता ही चाहिए। कोई भी कोशिश करके शेयर बाजार की जानकारी ले सकता है।

Subscribe To Updates On Telegram

Trading और Investment क्या हैं, दोनों में क्या अंतर है

जब भी नए लोग शेयर मार्केट में आते है। उसके मन में ये सवाल जरूर आता ही हैं। Trading और Investing क्या है इन दोनों में Stock Market में ट्रेडिंग कितने प्रकार की होती है? क्या अंतर होते हैं। ये सवाल मन में आना जायज भी हैं। जब तब नए लोगो को ये समझ नहीं आते उसे कैसे पता लगेगा उसका जोखिम क्षमता और लक्ष्य के हिसाब से, Trading और Investing में उसके लिए किया बेहतर होगा। आज हम जानेंगे Trading और Investing होता क्या है, दोनों में क्या अंतर हैं, Trading कितने तरह की होते हैं। साथ ही साथ जानेंगे कि ट्रेडिंग से हर रोज कमाई कर सकते है या नहीं।

Table of Contents

Trading Stock Market में ट्रेडिंग कितने प्रकार की होती है? क्या होता है:-

जब भी आप शेयर को खरीदते हो और उस दिन ही बेच देते हो। तब इसे Trading कहते हैं। मतलब आप Stock Trading में ज्यादा समय तक शेयर को अपने पास नहीं रख सकते हो। मान लीजिए आप एक शेयर खरीदा 200 रुपये में प्रॉफिट होने पर आपने उस दिन ही 220 रुपये में बेच दिया। इसी प्रोसेस को कहते है ट्रेडिंग। Trading करते वक्त Trader हमेशा Technical Analysis के साथ चलते हैं। जिससे उस कंपनी के शेयर प्राइस को कुछ समय आगे का शेयर प्राइस अंदाजा हो जाता हैं। इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कंपनी क्या काम करती है, भविष्य की योजना क्या हैं। सिर्फ ये देखा जाएगा शेयर प्राइस किस तरफ जा रही है। Trading करते समय न्यूज़ पर ध्यान देना बहुत जरुरी होता हैं. क्युकी कोई अच्छी खबर किसी भी शेयर को ऊपर ले जा सकती हैं। और बुरी खबर एकदम से नीचे भी ला सकती हैं।

Trading के प्रकार (Types of Trading):-

बहुत सारे Types of Trading होते है मुख्य रूप से 5 तरह का होता है। जिससे ट्रेडर ट्रेडिंग करके पैसा कमाई कर सके।

Investing क्या होता है:-

जब कोई शेयर आज खरीद के बहुत साल बाद बेच देते है तब इसे Investing कहते हैं। इन्वेस्टिंग में आप बहुत लंबे समय के शेयर को अपने Demat Account में रखते हो। कंपनी के वित्तीय विवरण, पिछले प्रदर्शन, भविष्य में होने वाले ग्रोथ को देखते हुए ही किसी भी शेयर Stock Market में ट्रेडिंग कितने प्रकार की होती है? में इन्वेस्ट करता हैं। Investing में Fundamental Analysis करना बहुत जरुरी हैं। जिससे आपको कंपनी के बारे अच्छी नॉलेज होगा और भविष्य में अच्छा रितर्न कमाके देगा।

Trading और Investment क्या हैं, दोनों में क्या अंतर है

Price Gaps क्या होता हैं?

एक गैप तब बनता है जब पिछले दिन के क्लोजिंग प्राइस और अगले दिन के ओपनिंग Stock Market में ट्रेडिंग कितने प्रकार की होती है? प्राइस में अलग-अलग प्राइस लेवल होता है׀

यह गैप मुख्य रूप से ट्रेडिंग सेशन के बाद उस एक विशेष स्टॉक में किसी भी समाचार के कारण बनता है

उदाहरण के लिए, यदि कंपनी की कमाई उम्मीद से अधिक है, तो अगले दिन स्टॉक की गैप बढ़ जाएगी׀

एक Price Gap क्यों बनता हैं?

एक गैप आमतौर पर तब बनता है जब मार्केट में लिक्विडिटी कम होती है׀ उस स्टॉक का ट्रेड करने के लिए पर्याप्त खरीदार या विक्रेता नहीं होते है׀

यह तब भी हो सकता है जब उस स्टॉक में हाई वॉल्यूम होता है׀

अर्निंग रिलीज़ होने और कंपनी से सम्बंधित समाचारों जैसे महत्वपूर्ण इवेंट जो स्टॉक के क्लोज होने के बाद बाज़ार के सेंटिमेंट को प्रभावित करते है, जब स्टॉक अगले दिन खुलता है तो ये स्टॉक की कीमतों में गैप बनने का नेतृत्व करते हैं׀

4 प्रकार के Price Gaps:

Price Gaps को मुख्य रूप से 4 समूहों में वर्गीकृत किया जा सकता है:

price-gaps

1. कॉमन Price Gaps:

कॉमन गैप को कभी-कभी ट्रेडिंग गैप या एरिया गैप भी कहा जाता है׀

यह गैप नर्वस मार्केट में होता है और आमतौर पर कुछ दिनों में बंद हो जाता है׀ जब वॉल्यूम कम होता है, तब पूर्व-लाभांश में जाने वाले स्टॉक के कारण यह गैप बन सकता है׀

एक कॉमन गैप एक ट्रेडिंग रेंज में प्रकट होता है और उस समय में स्टॉक में उत्साह की कमी की स्पष्ट पुष्टि करता है׀

इस प्रकार के गैप के बारे में जानना अच्छा है, लेकिन आमतौर पर यह संदेहपूर्ण होता है कि वे ट्रेडिंग अवसरों को उत्पन्न करेंगे׀

गैप के साथ खेलना:

ट्रेडर्स बनने वाले गैप के प्रकार के आधार पर ट्रेडिंग रणनीति बना सकते है׀

थम्ब रूल के अनुसार, नीचे कुछ बिंदु दिए गए है जिन पर ट्रेडर्स को विचार करने की आवश्यकता है जब ट्रेडिंग गैप:

  • कॉमन गैप को आमतौर पर विपरीत दिशा में ट्रेड करना चाहिए, क्योंकि बाज़ार में गैप होने के बाद वे भर जाते है׀
  • कंटिन्यूएशन गैप एक मजबूत ट्रेंड का सिग्नल Stock Market में ट्रेडिंग कितने प्रकार की होती है? देता है, और एक कंटिन्यूएशन गैप होने के बाद ट्रेडर्स ट्रेंड की दिशा में एंट्री कर सकते है׀
  • एग्जॉशन गैप ट्रेंड रिवर्सल का सिग्नल देता है और ट्रेडर्स को इस गैप Stock Market में ट्रेडिंग कितने प्रकार की होती है? का पता लगने के बाद विपरीत ट्रेंड में एंट्री करनी चाहिए׀

ऊपर दिए गए थम्ब रूल्स की मदद से, दोनों डे ट्रेडर्स और पोजीशनल ट्रेडर्स चार्ट में गैप का एनालिसिस कर सकते है और इसके अनुसार ट्रेड कर सकते है׀

Investment Tips: शेयर मार्केट से करोड़पति कैसे बनें? आपका Stock Market में ट्रेडिंग कितने प्रकार की होती है? भी है यही सवाल? ये 7 जवाब

अमित कुमार दुबे

पैसा कमाना हर किसी को अच्छा लगता है. कहा जाता है कि शेयर बाजार में बहुत पैसा है. कुछ लोगों को उदाहरण दिया जाता है कि इन्होंने महज 5000 रुपये से निवेश की शुरुआत की थी, और आज शेयर बाजार से करोड़ों रुपये बना रहे हैं. आखिर उनकी सफलता का राज क्या है, आज हम आपको बताएंगे? (Photo: Getty Images)

How can I earn 1 crore easily

दरअसल, आप भी कुछ आसान टिप्स को फॉलो कर शेयर बाजार से पैसे Stock Market में ट्रेडिंग कितने प्रकार की होती है? बना सकते हैं. शेयर बाजार में कुछ बातों का ध्यान रखकर आप लखपति से करोड़पति बन सकते हैं. लेकिन अक्सर लोग पैसे बनाने की होड़ में नियम और रिस्क को भूल जाते हैं, या फिर कहें जानबूझकर नजरअंदाज कर देते हैं. और फिर उनकी उनकी शिकायत होती है कि शेयर बाजार से बड़ा नुकसान हो गया. (Photo: Getty Images)

Trading क्या है?

जैसे कि हमने पहले भी चर्चा की थी कि एक डीमैट अकाउंट में आप केवल सिक्योरिटीज को होल्ड करके रख सकते है लेकिन अगर आप इनकी खरीददारी तथा बिकवाली करना चाहते है तो इसके लिए आपके पास एक ट्रेडिंग अकाउंट होना चाहिए इसको भी हम निम्नलिखित प्रकारों में बाँट सकते है -

1. Equity तथा Derivatives Trading Account

यह सबसे आम ट्रेडिंग अकाउंट है जिसकी मदद से आप Shares , Futures तथा Options में ट्रेड कर सकते है। ये सारे Transactions आप अपने घर से ही कर सकते हो या फिर अपने ब्रोकर को कॉल करके भी बता सकते हो तथा आपका ब्रोकर आपका ये काम कर देगा। आपके सभी अकाउंट T+1 Day के हिसाब से Execute हो जाएंगे।

अगर आप केवल Futures and Options में ही ट्रेड करते है तो आपको डीमैट अकाउंट की भी जरूरत नहीं पड़ती क्योंकि यह ट्रेड एक विशेष समय में ही ख़तम हो जाता है लेकिन स्टॉक्स के लिए आपको डीमैट अकाउंट की जरूरत पड़ सकती है।

डीमैट अकाउंट तथा ट्रेडिंग अकाउंट में अंतर :-

आधार

डीमैट अकाउंट

ट्रेडिंग अकाउंट

उपयोग

शेयर्स तथा सिक्योरिटीज को इलेक्ट्रॉनिक फॉर्म में स्टोर करने के लिए एक डीमैट अकाउंट की जरूरत पड़ती है

सिक्योरिटीज को खरीदने तथा बेचने के लिए एक ट्रेडिंग अकाउंट की जरूरत पड़ती है

पहचान

डीमैट अकाउंट खुलने के बाद इन्वेस्टर को एक यूनिक ID नंबर दिया जाएगा

इसमें आपको अकाउंट खुलवाने के बाद एक ट्रेडिंग ID दी जाएगी

उद्देश्य

शेयर्स की सुरक्षा के लिए

शेयर्स तथा सिक्योरिटीज की खरीददारी तथा बिकवाली की प्रक्रिया को आसान बनाने के लिए


एक ट्रेडिंग तथा डीमैट अकाउंट कैसे खुलवाएं?

एक ट्रेडिंग तथा डीमैट अकाउंट खुलवाने के लिए आपकी उम्र 18 साल से ज्यादा होनी चाहिए या फिर आपको अभिभावकों की कानूनी परमिशन चाहिए होगी तथा उसके बाद आप शेयर्स तथा सिक्योरिटीज की खरीददारी तथा बिकवाली कर सकते है।

इसके अलावा आपको एक पैन कार्ड की जरूरत पड़ेगी तथा इन स्टेप्स को फॉलो करना होगा -

1 डीमैट अकाउंट खुलवाने के लिए आपको Depository Participant या DP से संपर्क करना होगा जिसके बारे में आप Central Depository Services या फिर National Securities Depository Limited से जानकारी प्राप्त कर सकते है। ट्रेडिंग अकाउंट खुलवाने के लिए आपको एक ब्रोकर या ब्रोकिंग फर्म से संपर्क करना होगा।

2 अपने एड्रेस प्रूफ, पैन कार्ड, ID प्रूफ आदि देने के बाद आपको एक KYC भरनी पड़ेगी।

3 डीमैट अकाउंट की स्थिति में आपको एक एग्रीमेंट साइन करना होगा। इसकी एक कॉपी अपने पास जरूर रखें।

शेयर मार्केट में शेयर कैसे ख़रीदे – Share Market Share Kaise Kharide?

Share Market / शेयर मार्किट में शेयर आप डायरेक्ट अपने बैंक अकाउंट के जरिये नहीं खरीद सकते। इसके लिए आपको एक Demate Trading account खुलवाना होगा। इसके भी दो तरीके हैं, पहला किसी Broker यानि की दलाल के पास जाकर एक Demat account खोल सकते हैं। दूसरा आप बैंक में खुलवा सकते हैं। इसके लिए आपके पास किसी बैंक एक सेविंग अकाउंट रहना चाहिए, जोकि आपके Demate account से लिंक रहेगा। Demat account में हमारे Share के पैसे रखे जाते हैं जिस तरह की हम किसी बैंक के खाते में अपना पैसा रखते हैं ठीक उसी तरह। अगर आप शेयर मार्किट में निवेश कर रहे हैं तो आपका Demat account होना बहुत ही Stock Market में ट्रेडिंग कितने प्रकार की होती है? जरुरी है। क्यूंकि कंपनी को मुनाफा होने के बाद आपको जितने पैसे मिलेंगे वो सारे पैसे Stock Market में ट्रेडिंग कितने प्रकार की होती है? आपके Demat account में जायेंगे। यहाँ से आप अपने बैंक अकाउंट में पैसा ट्रांसफर कर सकते हैं।

रेटिंग: 4.15
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 408
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *