ताजा खबरें

Binance क्या है

Binance क्या है
यह मामला 2790.74 करोड़ रुपये मू्ल्य की क्रिप्टोकरेंसीज के लेनदेन से जुड़ा है।

Binance Coin क्या है और यह कैसे काम करता है?

इससे यह सभी क्रिप्टो करेंसी में सबसे सुरक्षित मानी जाती है, और आज यह विश्वसनीय भी बन चुका है, अधिकांश क्रिप्टोकरंसी की तरह आप अन्य क्रिप्टोकरंसी जैसे एरिया लिटेकॉइन या बीएनबी आदि का आदान-प्रदान या फिर व्यापार भी कर सकते हो।

सन 2017 में binance अपने मूल रूप में आ जाने Binance क्या है से पहले एथेरियम ब्लॉकचेन पर था। आज इसको ब्लॉकचेन पर देख सकते हो। शुरुआत में बीएनबी को प्रतियोगियों के एक विस्तृत समूह में डिस्ट्रीब्यूटर Binance क्या है किया गया था। जिसमें बैलेंस कॉइन की संस्थापक टीम एंजेल, निवेशक और भी बहुत कुछ शामिल हुए थे।

शुरु शुरु में 200 मिलियन बीएनबी ने शुरू किये, इसमें एंजेल निवेशकों के लिए 20 मिलियन, संस्थापक टीम के लिए 80 मिलियन, बाकी बचे 100 मिलियन बीएनबी सार्वजनिक बिक्री के लिए शुरू कर दिए गए थे। आज हम इस आर्टिकल के माध्यम से what is binance coin and how does it work इसके बारे में आपको कोई जानकारी विस्तार से बताने जा रहे हैं…

Table of Contents

Binance क्या है

Binance संपूर्ण विश्व की सबसे बड़ी क्रिप्टो एक्सचेंज है जो खुद के ब्लॉकचेन पर ही कार्य करती है इसकी शुरुआत 2015 में cayman islands से हुई थी।

इस एक्सचेंज की मदद से आप एक कॉइन को दूसरे को coin में trade कर के एक्सचेंज कर सकते हो उदाहरण के लिए – आपके पास में एक बिटकॉइन है और आप एक एथेरियम कॉइन में उसको इन्वेस्ट करना चाहते हो तो इसके लिए आपको binance पर BTC to ETH trade करके कॉइन को एक्सचेंज करना पड़ेगा।

इस तरह से आप किसी भी Binance क्या है कॉइन को binance exchange की सहायता से आसानी से ट्रेड कर के बदल सकते हैं। binance एक्सचेंज peer to peer ट्रेडिंग करने की भी सुविधा Binance क्या है Binance क्या है प्रदान करती है यहां पर आप किसी भी कॉइन को खरीद सकते हैं और आसानी से बेच भी सकते हैं अगर आपके पास में ₹2000 के बिटकॉइन है और आप इसको आईएनआर में कन्वर्ट करके बैंक का अकाउंट में भेजना चाहते हैं तो इसके लिए आपको p2p ट्रेडिंग की मदद तो लेनी ही होगी।

Binance coin क्या है?

Binance coin दुनिया की सबसे पॉपुलर क्रिप्टोकरंसी एक्सचेंज में से एक है। इसको हांगकांग में सन 2017 में लांच किया गया। बिनांस coin ( BNB) भी उसी समय में टोकन बनाया गया था।

BNB का ERC 20 टोकन होता है, जिसका उपयोग binance एक्सचेंज शुल्क का भुगतान करने के लिए होता है। अगर कोई व्यापारी बीएनबी में फीस का भुगतान करना चुनते हैं तो उनको विशेष छूट मिल जाती है। binance टैक्स पर अधिकांश मुद्राओं का कारोबार बीएनबी के खिलाफ भी किया जाता है,इसीलिए पोर्टफोलियो में इस सिक्के के होने के व्यापक अवसर मिल जाते हैं, इसीलिए binance coin सबसे ज्यादा पॉपुलर देसी टोकन कॉइन में से एक है। इसके अलावा भी binance का मार्केट कैप की ऊंचाई पर 10 क्रिप्टोकरंसी में से एक है।

Binance को जब से लांच किया गया। उसके बाद वह बहुत कामयाब रहा। अप्रैल 2019 में binance ने BNB को अपने पास mainnet स्थानांतरित कर दिया।

History of binance coin

बाइनेंस कॉइन को जुलाई 2007 में बैलेंस क्रिप्टोकरंसी एक्सचेंज के द्वारा जारी Binance क्या है किया गया था। यह एक initial coin offering होता है। इसका तात्पर्य यह है कि जब कोई कॉइन शुरुआत में मेल लांच करता है, तो उसको कुछ लोगों के बीच में ही पहले से ही बांट दिया जाता है। बाइनेंस कॉइन को निम्न प्रकार से लोगों के बीच में बांटा जाता है

डेवलपर्स के लिए 40% कॉइन

इनवर्टर को 10% कॉइन

सामान्य लोगों के लिए 50% कॉइन

जब बाइनेंस को लांच किया गया था, तब से लेकर आज तक क्वार्टर में बैलेंस चेक चेंज ने अपने वॉइस को बाय बैक किया। बाय बैक का अर्थ है बाइनेंस ने अपने कोइन्स को जिन लोगों Binance क्या है के बीच में बेचा उन लोगों से इनको इनको वापस से खरीदना बाय बैक ही कहलाता है। सभी को इस को वापस खरीदने के बाद में बाइनेंस उनको इनको जला देता था या यह कह सकते हैं, उन सभी coins को जला दिया जाता था, ताकि कॉइन की कमी को ना बनाया जा सके। जिससे यह कॉइन और ज्यादा कीमती हो जाए।

Binance coin के जनक

बाइनेंस कॉइन के फाउंडर और सीईओ changpeng zhao है। इनके द्वारा binance कॉइन को जुलाई 2017 में लांच किया गया था।

Total amount of BinanCe coin

बाइनेंस को इनकी मैक्सिमम सप्लाई 170 मिलियम binance coin होती है। इसलिए से कॉइन को लांच करते समय ही 50% काउंटेबल पर इन्वेस्टर के बीच में बांट दिए। इसमें 40% कॉइन डेवलपर को 10 परसेंट कॉइन इन्वेस्ट को दिए। बाइनेंस कोयल के लांच के समय है। इसकी मैक्सिमम सप्लाई 200 मिलियन बैलेंस को इनकी होती थी। लेकिन हर क्वार्टर में बैलेंस को अपने कॉइंस को buy back करके जला देते थे ताकि वह कौन किसी की कमी को उत्पन्न ना कर पाए जिससे कि कोई और भी अधिक कीमती हो जाए।

Binance smart chain

Binance स्मार्ट चैन को अप्रैल 2019 में binance के द्वारा ही लांच किया गया था। binance smart चैन का मुख्य फोकस तेज और कम पैसे वाले ट्रेडिंग संचालकों को सुविधाजनक बनाना होता है। यह पहल एक विकल्प के रूप में सामने आती है। क्योंकि एथेरियम की वृद्धि के साथ इसके नेटवर्क पर लेनदेन की संख्या में वृद्धि होती है सामान्य से अधिक ट्रैफिक के परिणामों में से एक शुल्क में वृद्धि है।

Binance coin के लाभ

BNB की बढ़ती हुई लोकप्रियता को ध्यान में रखते हुए व्यापारियों को यह तय करने में मदद करने के लिए की b&b उन्हें राजस्व ला सकता है, binance coin के लाभ

1. बाइनेंस कॉइन को 2021 में सबसे अच्छे उपयोगिता टोकन में से एक माना गया है कि टोकन का उपयोग मुख्य रूप से बैलेंस एक्सचेंज पर ट्रेंड और कमीशन का पेमेंट करने के लिए ही किया जाता है। इसका उपयोग बिना पारिस्थितिक तंत्र के बाहर भी किया जाता है, उदाहरण के लिए क्रेडिट कार्ड बिल ऑनलाइन खरीददारी ट्रैवल एंटरटेनमेंट आदि विभिन्न प्रकार की सेवाओं का ऑनलाइन पेमेंट करने के लिए भी binance coin को इनका प्रयोग में लेते हैं।

2.binance की बढ़ती हुई लोकप्रियता के आधार पर बीएनबी ने कॉइन मार्केट कैप पर सबसे अच्छी क्रिप्टो करेंसी में से एक मजबूत स्थान प्राप्त किया है। बाइनेंस Binance क्या है एक बहुत तेजी से विकसित होने वाली कंपनी है, और दुनिया के सबसे बड़े क्रिप्टो एक्सचेंज में से एक भी मानी जाती है। इसके अलावा यह टोकन को सबसे बड़े सामाजिक वीडियो मनोरंजन प्लेटफार्म में से एक, uplive कैसे प्रमुख संगठनों का भी समर्थन मिला है। इसके अलावा binance सिक्योरिटी को बहुत गंभीरता से लेता है।

Binance coin कैसे काम करता है

Binance coin peer to peer ट्रेडिंग प्लेटफार्म पर अभी बाहर के आर्डर को टेलर के आर्डर से मैच करता है।

अगर आप ₹20000 का USDT खरीदना चाहते हो तो binance peer to peer प्लेटफार्म पर आपके ऑर्डर का मिलान एक ऐसे व्यक्ति से करता है जो कि ₹20000 के बदले USDT बेचना चाहता हो।

क्रिप्टो करेंसी ट्रांजैक्शन की safe keeping के लिए ESCROW करता है।

सभी buyer पैसे को ट्रांसफर करने के लिए यूपीआई या आइएमपीएस का भी इस्तेमाल कर सकते हैं।

जब भी कोई भी सेलर पेमेंट रिसीव होने को Binance क्या है कंफर्म कर देता है तब binance सभी buyer के लिए USDT के लिए रिलीज कर देता है।

Conclusion

आज हमने इस आर्टिकल के माध्यम से आप सभी को व्हाट इज माय नेम कॉइन हाउ डज इट वर्क के बारे में जानकारी दी है उम्मीद है आपको हमारे द्वारा दी गई सभी जानकारी पसंद आई होंगी इससे जुड़ी अन्य किसी भी प्रकार की जानकारी के लिए आप हमारे कमेंट सेक्शन में जाकर कमेंट करके पूछ सकते हैं.

क्रिप्टोकरेंसी एक्सचेंज WazirX को ईडी का नोटिस, 2790.74 करोड़ रुपये के लेनदेन का है मामला

क्रिप्टोकरेंसी एक्सचेंज WazirX की मुश्किलें बढ़ गई हैं। प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने WazirX और इसके डायरेक्टर्स को कारण बताओ नोटिस जारी किया है। यह मामला 2790.74 करोड़ रुपये मू्ल्य की क्रिप्टोकरेंसीज के लेनदेन से जुड़ा है।

यह मामला 2790.74 करोड़ रुपये मू्ल्य की क्रिप्टोकरेंसीज के लेनदेन से जुड़ा है।

यह मामला 2790.74 करोड़ रुपये मू्ल्य की क्रिप्टोकरेंसीज के लेनदेन से जुड़ा है।

हाइलाइट्स

  • ED ने क्रिप्टोकरेंसी एक्सचेंज WazirX को कारण बताओ नोटिस दिया
  • 2790.74 करोड़ रुपये मू्ल्य की क्रिप्टोकरेंसीज के लेनदेन का है मामला
  • ईडी के मुताबिक WazirX ने प्रॉपर डॉक्युमेंट्स के बिना ट्रांजैक्शन की अनुमति दी

ईडी के मुताबिक चीन की अवैध ऑनलाइन बेटिंग कंपनी Applications के खिलाफ मनी लॉड्रिंग की जांच चल ही है और उसी के आधार Binance क्या है पर WazirX और उसके डायरेक्टर्स के खिलाफ फेमा जांच शुरू की गई है। जांच के दौरान पता चला कि ऑनलाइन बेटिंग कंपनी चला रहे चीनियों ने 57 करोड़ रुपये की अवैध कमाई की लॉड्रिंग की। उन्होंने भारतीय रुपयों को Crypto-currency Tether (USDT) में बदला और फिर इसे Binance Wallets में भेज दिया।

क्या है आरोप
WazirX पर आरोप है कि उसने क्रिप्टोकरेंसीज में कई तरह के ट्रांजैक्शन की अनुमति दी। इसमें क्रिप्टोकरेंसीज को भारतीय रुपये में एक्सचेंज करना, क्रिप्टोकरेंसीज का एक्सचेंज और पर्सन टु पर्सन ट्रांजैक्शन शामिल है। साथ ही अपने पूल अकाउंड्स में रखे गई क्रिप्टोकरेंसीज को दूसरे एक्सचेंजेज के वॉलेट में ट्रांसफर और रिसीव किया। उसने इसके लिए जरूरी दस्तावेज नहीं लिए जो Anti Money Laundering (AML), Combating of Financing of Terrorism (CFT) और FEMA का उल्लंघन है।

ईडी के मुताबिक WazirX के यूजर्स ने इसके पूल अकाउंट से Binance accounts से 880 करोड़ रुपये मूल्य की क्रिप्टोकरेंसी रिसीव की और 1400 करोड़ रुपये मूल्य की क्रिप्टोकरेंसी Binance accounts में ट्रांसफर की। इनमें से कोई भी ट्रांजैक्शन ऑडिट या जांच के लिए ब्लॉकचेन पर उपलब्ध नहीं है। यह पाया गया है कि WazirX के क्लायंट प्रॉपर डॉक्युमेंटेशन के बिना किसी भी व्यक्ति को किसी भी देश में क्रिप्टोकरेंसीज ट्रांसफर Binance क्या है कर सकते हैं। इस तरह यह मनी लॉड्रिंग और दूसरी अवैध गतिविधियों में शामिल लोगों के लिए सुरक्षित पनाहगाह है।

बंद हो सकता है क्रिप्टो एक्सचेंज वज़ीरएक्स! ED की जांच के बाद Binance ने कहा- फंड ट्रांसफर कर लें

Binance के सीईओ चांगपेंग झाओ ने निवेशकों से अपने फंड को वज़ीरएक्स से बायनेंस में ट्रांसफर करने की अपील की है और कहा है कि वज़ीरएक्स क्रिप्टो एक्सचेंज बंद हो सकता है।

बंद हो सकता है क्रिप्टो एक्सचेंज वज़ीरएक्स! ED की जांच के बाद Binance ने कहा- फंड ट्रांसफर कर लें

भारतीय डिजिलट करेंसी एक्सचेंज वज़ीरएक्स (WazirX) पर ED की छापेमारी और 64 करोड़ रुपये फ्रीज किए जाने के बाद अेमिरकी क्रिप्टो एक्सचेंज बायनेंस (Binance) ने वज़ीरएक्स को लेकर चेतावनी दी है। Binance के सीईओ चांगपेंग झाओ ने निवेशकों से अपने फंड को वज़ीरएक्स से बायनेंस में ट्रांसफर करने की अपील की है और कहा है कि वज़ीरएक्स क्रिप्टो एक्सचेंज बंद हो सकता है।

वज़ीरएक्स और बायनेंस में तानातनी
Binance के सीईओ चांगपेंग झाओ और वज़ीरएक्स क्रिप्टो एक्सचेंज के फाउंडर निश्चल शेट्टी रात भर ट्विटर पर आपस में भिड़ते रहे। शेट्टी ने दावा किया कि 'वज़ीरएक्स को बायनेंस द्वारा अधिग्रहित किया गया था'। इस पर झाओ ने एक ट्वीट में जवाब दिया कि बायनेंस केवल वज़ीरएक्स को वॉलेट सर्विस देता है। उन्होंने कहा कि वज़ीरएक्स डोमेन को बायनेंस में ट्रांसफर कर दिया गया था और उनके पास अमेज़ॅन वेब सर्विसेज खाते तक पहुंच है, लेकिन उनके पास केवाईसी डेटा तक पहुंच नहीं है। झाओ ने कहा कि वजीरएक्स पर किसी भी तरह के एक्सचेंज, यूजर साइनअप, केवाईसी, ट्रेडिंग के लिए वजीरएक्स जिम्मेदार है।

वज़ीरएक्स की 64 करोड़ रुपये की राशि जब्त
आपको बता दें कि शुक्रवार को प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने देश के प्रमुख क्रिप्टो करेंसी एक्सचेंजों में से एक वज़ीरएक्स की बैंकों में जमा 64.67 करोड़ रुपये की राशि जब्त कर ली है। ईडी ने इंस्टैंड लोन देने वाले एप्लिकेशन के खिलाफ चल रही मनी लाॅन्ड्रिंग जांच के तहत यह कार्रवाई की है।
एजेंसी ने शुक्रवार को कहा कि वजीरएक्स का मालिकाना हक रखने वाली कंपनी जनमई लैब प्राइवेट लिमिटेड के एक निदेशक समीर म्हात्रे के खिलाफ तीन अगस्त को छापे मारे गए थे। जांच एजेंसी ने कहा कि वह मांगी गई जानकारी साझा नहीं कर रहे थे और जांच में सहयोग भी नहीं कर रहे थे।

ईडी ने एक बयान में कहा कि एक्सचेंज और उसके अधिकारी भारतीय नियामक एजेंसियों द्वारा निगरानी या जांच से बचने के लिए विरोधात्मक और अस्पष्ट जवाब दे रहे थे।

एजेंसी ने पाया कि देश में मोबाइल ऐप के माध्यम से फंसाने वाले ऋण देने में शामिल कई वित्त प्रौद्योगिकी कंपनियों ने अधिकतम राशि वज़ीरएक्स एक्सचेंज में स्थांतरित कर दी है। साथ ही इस तरह खरीदी गई क्रिप्टो-परिसंपत्तियों को अज्ञात विदेशी खातों में स्थांतरित कर किया गया है।

ईडी ने वज़ीरएक्स पर असहयोगी व्यवहार करने के कम से कम चार मामलों में आरोप लगाया है, जिसने उसे तत्काल ऋण ऐप के खतरे के खिलाफ जांच शुरू करने के लिए मजबूर किया।

पाकिस्तान में Cryptocurrency को बैन करने की तैयारी, जानिए क्या है वजह

बिजनेस डेस्कः पाकिस्तान के सेंट्रल बैंक की कमेटी ने देश में क्रिप्टोकरेंसी और अन्य संबंधित गतिविधियों पर पूरी तरह से प्रतिबंध लगाने की सिफारिश की है। एक मीडिया रिपोर्ट के अनुसार,पाकिस्तान की अदालत के दस करोड़ डॉलर की डिजिटल मुद्रा धोखाधड़ी को लेकर जांच के आदेश के बाद समिति ने यह सिफारिश की है।

पिछले दिनों पाकिस्तान के फेडरल इन्वेस्टिगेशन एजेंसी (FIA) ने क्रिप्टो एक्सचेंज Binance को नोटिस जारी किया था। यह नोटिस 100 मिलियन डॉलर के क्रिप्टोकरेंसी स्कैम को लेकर था। यूजर्स ने शिकायत की थी कि क्रिप्टोकरेंसी एक्सचेंज ने उनके फंड को थर्ड पार्टी वॉलेट में ट्रांसफर कर दिया है। यह स्कैम करीब 740 करोड़ रुपए का है।

इस धोखाधड़ी मामले के सार्वजानिक होने के बाद सिंध उच्च न्यायालय (Sindh High Court) ने स्टेट बैंक ऑफ पाकिस्तान को जांच के लिए बैंक के डिप्टी गवर्नर के अधीन एक समिति गठित करने का निर्देश दिया था। इस समिति में वित्त मंत्रालय, सूचना-प्रौद्योगिकी, दूरसंचार प्राधिकरण और सुरक्षा और विनिमय आयोग के सदस्य शामिल हैं।

आतंकवाद और मनी लांड्रिंग है कारण
पाकिस्‍तान में क्रिप्‍टोकरेंसी को बैन किए जाने की सिफारिश के पीछे इसका आतंकवादी गतिविधियों में इस्‍तेमाल होने और मनी लांड्रिंग को माना जा रहा है। लंबे समय से पाकिस्‍तान में कहा जा रहा था कि क्रिप्‍टोकरेंसी का प्रयोग आतंकवाद को बढ़ावा देने में हो रहा है। ऐसे ही आरोप क्रिप्‍टोकरेंसी पर कई अन्‍य देशों में लग रहे हैं, जिनमें भारत भी शामिल है।

क्रिप्टो एक्सचेंजों पर जुर्माने का भी सुझाव
अंग्रेजी अखबार द न्यूज इंटरनेशनल के अनुसार अदालत ने समिति से पाकिस्तानी कानून के तहत किसी भी प्रकार की क्रिप्टोकरेंसी की अनुमति देने या नहीं देने को लेकर राय मांगी थी। समिति ने अपनी रिपोर्ट में देश में सभी क्रिप्टोकरेंसी और अन्य संबंधित गतिविधियों पर पूर्ण प्रतिबंध लगाने का सुझाव दिया है। State Bank of Pakistan ने देश में संचालित क्रिप्टो एक्सचेंजों पर जुर्माना लगाने का भी सुझाव दिया है।

11 देशों ने क्रिप्टोकरेंसी पर लगाया है बैन
SBP ने अपनी रिपोर्ट में कहा कि वर्तमान में 11 ऐसे देश हैं जिन्होंने क्रिप्टोकरेंसी पर बैन लगाया है। इनमें चीन, सऊदी अरब जैसे देश शामिल हैं। अभी तक कोर्ट की तरफ से क्रिप्टोकरेंसी पर बैन को लेकर किसी तरह का आदेश जारी नहीं किया गया है। ईरान और कजाकिस्तान जैसे देशों ने क्रिप्टो माइनिंग में बिजली की खपत को लेकर चिंता जाहिर की है।

रेग्युलेट करने को लेकर दिया था निर्देश
इससे पहले 20 अक्टूबर 2021 Binance क्या है को सिंध हाईकोर्ट ने फेडरल गवर्नमेंट को कहा था कि वह तीन महीने के भीतर क्रिप्टोकरेंसी को रेग्युलेट करे। कोर्ट ने सरकार को यह भी कहा था कि वह फाइनेंस सेक्रेटरी के नेतृत्व में एक कमिटी का गठन करे। यह कमेटी डिजिटल करेंसी के लीगल स्टेटस के बारे में फैसला लेगी।

रेटिंग: 4.31
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 580
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *