भारत में विदेशी मुद्रा व्यापार के लिए रणनीतियाँ

Forex ट्रेडिंग क्या है?

Forex ट्रेडिंग क्या है?
अधिकांश प्रमुख ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म एक अभ्यास मंच प्रदान करते हैं ताकि आप अपनी मेहनत की कमाई खर्च किए बिना ट्रेडिंग में अपना हाथ आजमा सकें। एक अच्छा विचार होगा कि ऐसे प्लेटफॉर्म का लाभ उठाया जाए जिससे आप सीखते समय पैसे बर्बाद न करें। अभ्यास व्यापार के दौरान, आप गलतियों से सीख सकते हैं ताकि आप उन्हें Forex ट्रेडिंग क्या है? वास्तविक समय में न दोहराएं।

Forex Trading क्या है - What Is Forex Trading In Hindi

Forex Trading क्या है ? Forex Trading कैसे करें – [2022] Forex Trading In Hindi

Forex trading kya hai In Hindi ,(what is forex trading in hindi ) forex trading kaise kare in hindi , (Forex trading in Hindi) , फोरेक्स ट्रेडिंग क्या है: नमस्कार दोस्तों आज मैं आपको बताऊंगा कि फोरेक्स ट्रेडिंग क्या होती है (What Is Forex Trading In Hindi) Forex Trading को Currency Trading भी कहते है क्योंकि Forex Trading में एक देश की Currency Forex ट्रेडिंग क्या है? के बदले में दूसरे देश की Currency को ख़रीदा और बेचा जाता है।

दुनिया के सभी देशों की एक करेंसी होती है जैसे भारत का रुपया, अमेरिका का डॉलर, जापान का येन, ब्रिटेन का पाउंड इत्यादि इन सभी की एक कीमत होती है जो बाजार में Demand And Supply के आधार पर कम ज्यादा होती है, आपने अकसर न्यूज़ में सुना होगा की आज रुपये 0.40 पैसा गिर गया, आज रुपये 0.50 पैसा बढ़ गया जब रूपया कम या ज्यादा होता है तो कुछ लोग इसे कम दाम पर खरीद कर ज्यादा होने पर बेच देते है इसे ही फोरेक्स ट्रेडिंग या करेंसी ट्रेडिंग कहते है।

Forex trading क्या है : What is forex Trading in hindi

दोस्तों Forex सामान्य अर्थ होता है कि Foreign+exchange जिसका अर्थ होता है कि विदेशी मुद्रा का विनियम या विदेशी मुद्रा की खरीदारी या विदेशी मुद्रा की अदला बदली

Trading का सामान्य अर्थ होता है कि किसी भी चीज की खरीदारी या किसी भी चीज का मूल्य भाव तय करना या किसी भी चीज का व्यापार करना

तो इस प्रकार कह सकते हैं कि Forex trading– (Forex trading in Hindi) एक ऐसा क्रियाकलाप है जिसमें हम किसी अन्य देशों की करेंसी का एक जोड़ा खरीदते हैं और उस जोड़े में दो करेंसी होती है और उन करेंसी का मार्केट भाव ऊपर नीचे होता रहता है

भारत में करेंसी ट्रेडिंग शुरू कैसे करें – How To Start Forex Trading In India

बहुत सारे लोग पूछते है की क्या भारत में Currency Trading करना Allowed है तो इसका जवाब है, “हाँ भारत Forex ट्रेडिंग क्या है? में करेंसी ट्रेडिंग करना वैध है” लेकिन भारत में सिर्फ 4 Currency Trading Pairs में ट्रेडिंग की जा सकती है और ये चार Currency Trading Pairs है USD/INR, EUR/INR, GBP/INR JPY/INR. इनमें भारत के रुपये को दुसरे देशों की करेंसी के साथ Trade किया जाता है।

इनके अलावा 3 और Cross Currency Pairs है जिन पर ट्रेडिंग हाल – फिलहाल में ही शुरू हुई है और वे तीन क्रॉस करेंसी पेयर्स है EURO/USD, GBP/USD, USD/JPY लेकिन इनमें ज्यादा Volume नहीं है और बहुत सारे Stock Brokers ने अभी तक Cross Currency Trading को शुरू भी नहीं किया है। क्रॉस करेंसी पेयर्स में दूसरे देशों की करेंसी को आपस में ट्रेड किया जाता है।

भारत में करेंसी ट्रेडिंग कैसे काम करता है – Currency Trading In India

भारत में Currency Trading को Futures And Option Market में कराया जाता है। जिसका अर्थ है Currency Contract को एक निश्चित Expiry से पहले खरीद कर बेचना होता है, Currency Contract को अपने मन मुताबिक संख्या में ख़रीदा या बेचा नहीं जा सकता बल्कि पहले से निर्धारित Lot Size में इन करेंसी कॉन्ट्रैक्ट को ख़रीदा और बेचा जाता है।

1 Lot का मतलब 1000 Units होता है और कम से कम एक 1 Lot को Minimum Purchase करना होता है अगर 1 Lot से ज्यादा खरीदना हो तो 1 के गुना में खरीद सकते है।

जैसे अगर आपको 1000 Dollar Purchase करना हो तो आप 1 Lot USD/INR का खरीदेंगे क्योंकि 1 Lot में 1000 Dollar होते है, और 2000 डॉलर खरीदने के लिए 2 Lot खरीदने होंगे।

Online Forex Trading में Currency का 1 Lot खरीदने के लिये पुरे पैसे नहीं देने होते है बल्कि Broker Margin प्रोवाइड करता है मार्जिन एक उधार होता है जो स्टॉक ब्रोकर आपको देता है ट्रेडिंग करने के लिये और ट्रेडिंग करने के बाद वह पैसे ब्रोकर को वापिस चुकाने होते है।

Share Market ने पूरे किए सपने, नौकरी छोड़ आधी दुनिया की सैर कर चुकी है ये लड़की

शेयर मार्केट में ट्रेड कर दुनिया की सैर

aajtak.in

  • नई दिल्ली,
  • 06 जून 2022,
  • (अपडेटेड 06 जून 2022, 12:58 PM IST)
  • दुनिया घूमने के लिए छोड़ी बैंकर की नौकरी
  • शेयर मार्केट में ट्रेड कर कमाती हैं पैसे

अच्छी-खासी सैलरी वाली बैंकर (Banker) की नौकरी को भला कौन छोड़ना चाहता है. हालांकि दुनिया में ऐसे भी लोग होते हैं, जिनका सपना अलग होता है. कोलकाता (Kolkata) की रहने वाली राजर्षिता सुर (Rajarshita Sur) की कहानी भी ऐसी ही है. राजर्षिता का सपना दुनिया घूमने का था और इस कारण उन्होंने बैंकर की नौकरी की परवाह नहीं की. सुर के सपने को पूरा करने में मददगार बना शेयर मार्केट (Share Market).

सम्बंधित ख़बरें

कल हो सकती है इस IPO की लिस्टिंग, ग्रे मार्केट में शेयर का धमाल
दिवाली के दिन खुलेगा स्टॉक मार्केट, ये शेयर खरीदना हो सकता शुभ!
Tata Steel, IndusInd के शेयर चढ़े, बाजार ने की ठोस शुरुआत
RIL, HDFC के शेयर हुए धड़ाम. वोलेटाइल ट्रेड में छठे दिन भी गिरा बाजार
Top Picks: नवरात्रि पर खरीदें ये 9 स्टॉक्स, हो सकती है धनवर्षा!

सम्बंधित ख़बरें

ऐसे की शेयर मार्केट Forex ट्रेडिंग क्या है? में शुरुआत

राजर्षिता सुर ने बैंक की नौकरी छोड़ने के बाद इंडीपेंडेंट तरीके से स्टॉक मार्केट में ट्रेड (Stock Market Trading) करने लगीं. शुरुआत में उन्होंने एक कॉरपोरेट फर्म के साथ तीन साल तक प्रॉपरायटरी इक्विटी ट्रेडर के रूप में काम किया. इस नौकरी के साथ-साथ वह अपना ट्रेड भी करती रहीं. धीरे-धीरे राजर्षिता को शेयर मार्केट की चाल समझ आने लगी और उन्होंने ठीक-ठाक फंड भी बना लिया. बस फिर क्या था, उन्होंने ये नौकरी भी छोड़ दी और दुनिया घूमने निकल पड़ीं.

कर चुकीं दुनिया के इन हिस्सों की सैर

आज राजर्षिता सुर की पहचान एक इन्वेस्टमेंट गुरू (Investment Guru) के रूप में बन चुकी है. उन्हें शेयर मार्केट में ट्रेड करते हुए आठ साल हो चुके हैं. राजर्षिता सुर अभी तक ब्रिटेन (Britain), तुर्की (Turkey), दक्षिण पूर्वी एशिया (South East Asia) और लगभग 70 फीसदी यूरोप (Europe) की सैर कर चुकी हैं. अभी-अभी उन्होंने नेपाल (Nepal) का ट्रिप पूरा किया है और अब केन्या (Kenya) व आइसलैंड (Iceland) जाने की तैयारी में हैं. राजर्षिता हर साल विदेश की सैर करने के लिए कम-से-कम 10 लाख रुपये अलग रख दिया करती हैं. उनका कहना है कि वह हर महीने 3-4 फीसदी फायदा कमाने का टारगेट रखती हैं. जैसे ही ये टारगेट अचीव होता है, वह ट्रेडिंग बंद कर सैर करने निकल पड़ती हैं.

Forex Trading Kya होती Hai ? हिंदी में जाने

आइए दोस्तो! क्या आप फॉरेक्स मार्केट या Forex Trading के बारे में जानना चाहते तो आप सही पोस्ट पर आए है और मैं खुद एक ट्रेडर हूं इसके बारे में आप को बेहतर तरीके से बता सकता हु। आइए जानते इस दुनिया की सबसे बड़ी मार्केट बारे में।

फॉरेक्स क्या अर्थ होता है = foreion+exchange इस मार्केट में एक करेंसी को दूसरी करेंसी में बदला जाता है। यह दुनिया को सबसे बड़ी मार्केट है इसका रोज का लेनदेन 5 या 6 ट्रिलियन का होता है। यह 24×5 खुली रहती है और Suterday,Sunday बंद रहती है।

Forex Trading क्या होती है – FOREX TRADING IN HINDI

जिस तरह से लोग शेयर मार्केट में Profit यानी पैसा कमाने के लिए शेयरों की खरीदी बेचा करते है। इसी तरह इस forex market में किसी करेंसी को कम दाम में खरीद कर ज्यादा दाम में बेचने को ही फॉरेक्स ट्रेडिंग या करेंसी ट्रेडिंग कहते है। जिस तरह शेयर मार्केट में ट्रेडिंग करने पर high या medium रिस्क होता है। इस मार्केट में ट्रेडिंग करने पर medium या low रिस्क होता है। इसमें ट्रेड करने पर मार्जिन काम देना पड़ता है। आगे हम मार्जिन और जो भी फॉरेक्स मार्केट में concept है उसको जानेंगे।

भारत में यह दो तरीके से हो सकती है

  1. इंडियन ब्रोकर अकाउंट जैसे – Zerodha,Upstox Etc.
  2. International ब्रोकर अकाउंट जैसे – Octafx, Exness,Tickmill Etc.

फॉरेक्स मार्केट को इफेक्ट करने वाले कारक

USD/INR का प्राइस कम को एप्रीसिएशन कहते है और प्राइस बढ़ने को डिप्रीशिएशन कहते है। प्राइस कम होने का मतलब है भारतीय रुपया मजबूत होता है।जब प्राइस बढ़ता है तो भारतीय रुपया कमजोर होता है।

  1. इनफ्लेशन (मुद्रास्फीति) – जब महगाई की दर यानी महंगाई कम होती है तब INR एप्रीसिएशन होता है
  2. इंटरेस्ट रेट्स (ब्याज दर) – जब rbi रेट्स बढ़ाता है तब भी INR एप्रीसिएशन होता है।
  3. RBI का USD/INR का बेचना – जब INR का प्राइस बढ़ने लगता है।इससे एक्सपोर्टइंपोर्ट करने में परेशानी होने लगती है तो RBI USD/INR बेचने लगता है इससे मार्केट स्थिर हो जाता है और एप्रेशियट होने लगता है।
  4. निर्यात – जब एक्सपोर्ट या निर्यात बढ़ने लगता है।तब INR एप्रीसिएशन होता है।
  5. राजनीतिक स्थिरता – भारत में जब सरकार बार – बार नही बदलती है और एक सरकार पूरे पांच साल तक रहती है तो भी INR एप्रीसिएशन होता है
  6. करेंट अकाउंट डेफिसिट – करेंट अकाउंट डेफिसिट होता है तो भी INR का प्राइस कम होने लगता है

Forex Trading में जरुरी टिप्स

  • ट्रेडिंग करने के लिए सबसे जरूरी है सही ब्रोकर को चुनना।कुछ ब्रोकर hidden चार्जेस लेने लगते है।
  • ट्रेडिंग करते समय जरूरी है आप इमोशन पर काबू करे नही तो ट्रेडिंग आपकी दुश्मन बन जायेगी। जिसने भी इमोशन को कंट्रोल कर लिया वह ट्रेडर बन गया। ट्रेडिंग में 90% साइकोलॉजी यानी इमोशन और 10% स्किल important है।
  • आप हमेशा सीखते रहे और प्रैक्टिस करते है इससे आपकी स्किल improve होगी आप और भी अच्छे ट्रेडर बन पायेंगे।
  • एक अच्छा ट्रेडर मार्केट की साइकोलॉजी को समझता है वह यह जानता है अब मार्केट ओवरबॉट या ओवरसेल हो चुका है
  • जो ट्रेडर रिस्क नहीं लेता वह ट्रेडर नही होता है ।बिना रिस्क लिए आप प्रॉफिट नहीं कमा सकते है।वो डायलॉग सुना है रिस्क है तो इश्क है।
  • टेक्निकल एनालिसिस करे! और उसे ज्यादा से ज्यादा सीखे और चार्ट पैटर्न को देख कर ट्रेड करने का निर्णय लीजिए ।
  • स्टॉप लॉस ट्रेडिंग सबसे जरूरी हिस्सा है ।जब भी आप ट्रेड में एंटर हो पहले आप अपना स्टॉप लॉस सेट करने के बाद ही किसी ट्रेड में एंटर करे।

काम की बात: लोगों को बरगला रहे अनधिकृत फॉरेक्स ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म, कमाई गंवा रहे निवेशक

रिजर्व बैंक ने विदेशी करेंसी में पैसा लगाने वाले निवेशकों को सतर्कता बरतने की सलाह दी है। खास तौर पर ऐसे अनधिकृत फॉरेन एक्सचेंज ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म्स के प्रति चेताया है, जो हाल के महीनों में बड़े पैमाने पर उभरे हैं और लोगों से ऊंचे रिटर्न का वादा कर रहे हैं।

आरबीआई ने एक बयान जारी करके कहा है कि सोशल मीडिया प्लेटफॉम्स, सर्च इंजन्स, ओटीटी प्लेटफॉर्म्स और गेमिंग एप्स पर अनधिकृत ईटीपी के ढेर सारे भ्रामक विज्ञापन आ रहे हैं। अनधिकृत ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म्स लोगों को निजी तौर पर संपर्क कर उन्हें फॉरेक्स में ट्रेड कर मोटा मुनाफा कमाने का लालच दे रहे हैं। इसमें फ्रॉड की शिकायतें आ रही हैं, और इनमें निवेश करने वाले अपनी गाढ़ी कमाई गंवा रहे हैं।

Forex Trading में पैसा कैसे कमाए, how to make money in forex trading

विदेशी मुद्रा ( Forex Trading ) व्यापार, जिसे एफएक्स व्यापार या मुद्रा व्यापार भी कहा जाता है, अंतरराष्ट्रीय Forex ट्रेडिंग क्या है? मुद्रा जोड़े की खरीद और बिक्री को संदर्भित करता है। विदेशी मुद्रा व्यापार का मुख्य उद्देश्य एक मुद्रा को दूसरे के लिए विनिमय करना है ताकि कीमतों में परिवर्तन हो और खरीदी गई मुद्रा की कीमत बेची गई मुद्रा के सापेक्ष बढ़े।

विदेशी मुद्रा बाजार विश्व स्तर पर सबसे बड़ा वित्तीय बाजार है जहां निवेशक, सट्टेबाज और कॉर्पोरेट सीमा पार विदेशी मुद्रा व्यापार में शामिल हैं। अन्य वित्तीय बाजारों के विपरीत, फॉरेक्स ट्रेडिंग एक भौतिक स्थान के माध्यम से नहीं बल्कि निगमों, बैंकों और व्यक्तियों के एक इलेक्ट्रॉनिक नेटवर्क के माध्यम से संचालित होता है जो एक मुद्रा को दूसरे के लिए व्यापार करते हैं। यह समय क्षेत्रों और वित्तीय केंद्रों में चौबीसों घंटे काम करना सुविधाजनक बनाता है।

रेटिंग: 4.96
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 202
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *